अगर आप भी आधार से करते हैं ये काम तो लग सकता है चूना

मोदी सरकार ने ज्यादातर कामों के लिए आधार को अनिवार्य कर दिया है, ऐसे में लोगों की जानकारी गलत हाथों में पहुंचने का खतरा भी बढ़ गया है। इसी डर को देखते हुए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने लोगों को किसी भी सेवा का लाभ लेने के लिए इंटरनेट पर आधार जैसी अपनी व्यक्तिगत जानकारी साझा करते समय सावधानी बरतने के लिए कहा है।

UIDAI ने कहा कि जब लोग किसी सेवा प्रदाता या वेंडर से सेवा प्राप्त करने के लिए इंटरनेट पर आधार समेत अन्य व्यक्तिगत जानकारी साझा करते हैं तो इंटरनेट पर जानकारी डालते समय उन्हें सावधानियां बरतनी चाहिए।

.

.
कुछ बेईमान लोग दूसरों का आधार कार्ड पोस्ट या प्रकाशित कर देते हैं, लेकिन इसका UIDAI और आधार की सुरक्षा पर कोई असर नहीं पड़ता है।

.

.

.

UIDAI ने जोर देते हुए कहा कि अन्य पहचान पत्र की तरह ही आधार भी गोपनीय दस्तावेज नहीं है। किसी के आधार कार्ड के बारे में थोड़ी सी जानकारी होना उस शख्स की पहचान के साथ छेड़छाड़ करके नई पहचान स्थापित करने के लिए काफी नहीं है, क्योंकि इसके लिए बायोमैट्रिक प्रमाणीकरण की जरुरत होती है।

मोबाइल नंबर, बैंक खाता संख्या, स्थायी खाता संख्या (पैन कार्ड), पासपोर्ट, परिवार से जुड़ी जानकारियों इत्यादि की तरह ही आधार को भी व्यक्तिगत जानकारी माना जाना चाहिए। किसी व्यक्ति की गोपनीयता सुनिश्चित करने के लिए आधार को भी संरक्षित किया जाना चाहिए। बयान में कहा गया है कि यदि कोई व्यक्ति किसी और व्यक्तिगत जानकारी जैसे आधार कार्ड, मोबाइल नंबर, बैंक खाता, फोटो इत्यादि अनाधिकृत तौर पर प्रकाशित करता है तो संबंधित व्यक्ति उस शख्स के खिलाफ क्षतिपूर्ति का मुकदमा कर सकता है।

क्या फोन की बैटरी रात भर चार्ज करने से खराब हो जाती है

फोन की बैट्री चार्जिंग पर लगाकर मत छोड़ना. रात भर बैटरी लगी रहेगी तो जल्दी खराब हो जाएगी. हम सबने ये बात सुनी है. कई लोग इस पर विश्वास करते हैं. मगर फिर भी रात को देर तक फोन पर चैटिंग करना और उसे चार्जिंग पर लगाकर सो जाना बड़ा आसान ऑप्शन है. तो सच क्या है.

फोन बनाने वाली कंपनियां बड़ी रिसर्च करके फोन बनाती हैं. आप फोन ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें. आसानी से करें. सामान्य परिस्थितियों में होने वाली सारी समस्याओं को फोन बनाते समय डिज़ाइन में शामिल करते हैं. इसलिए आपका फोन अगर रात भर चार्जिंग पर लगा रहे तो परेशान न हों. फुल चार्जिंग के बाद फोन अपने आप चार्जिंग रोक देता है. लेकिन जहां तक संभव हो फोन को अपने चार्जर से ही चार्ज करें. किसी और चार्जर से चार्ज करना नुक्सान देह हो सकता है.

शुरुआती मोबाइल फोन में इस तरह की सुविधा शायद न होती हो मगर अबके मोबाइल फोन इतने स्मार्ट तो हैं ही कि कुछ घंटे की ओवरचार्जिंग से खराब नहीं होंगे. वैसे फोन खरीदते समय हम कई फीचर्स पढकर तय करते हैं कि कौन सा फोन खरीदें, इनमें से कई हमारे काम के नहीं होते. इसके साथ ही कई हमें बेवकूफ भी बनाते हैं. इन्हें भी जान लीजिए.

ज्यादा कोर वाला प्रोसेसर बेहतर है

ज्यादा कोर वाले प्रोसेसर पर पैसा खर्च करने से पहले कुछ बाते जान लीजिए. ज्यादातर ऐप कम से कम कोर में ही काम करती हैं. इसलिए आपके फोन पर फेसबुक 2 कोर पर भी सही चल सकता है और 8 कोर पर भी. ज्यादा कोर से वीडियो और इंटरनेट पर भी इतना बड़ा असर नहीं पड़ता कि उसपर बहुत ज्यादा पैसे खर्च किए जाएं. फोन स्मूथ चले इसके लिए उसके प्रोसेसर की क्वालिटी, मेमोरी, रैम बहुत कुछ मैटर करती है. इसीलिए एपल का दो कोर वाला प्रोसेसर भी किसी सस्ते 8 कोर पर भारी पड़ सकता है.

क्वाड एचडी, अल्ट्रा एचडी डिस्पले ज्यादा अच्छी हैं

आदमी की आंख एक फोन की स्क्रीन पर 326 पिक्सल पर इंच से ज्यादा फर्क नहीं कर सकती. इसलिए आप अपना फोन सिर्फ इसलिए बदलना चाहते हैं कि उसमें 500 पिक्सल पर इंच की डिस्प्ले है और दूसरे में 600 तो दोबारा सोच लीजिए.

एंड्राइड फ़ोन इस्तेमाल करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, जरुर पढ़ें

एंड्राइड फ़ोन आज हर किसी के हाथ में है| आज विश्व में यह सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम भी बन चूका है| पूरी दुनिया में इसके 400 मिलियन से ज्यादा यूजर्स है| धीरे-धीरे एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम की लोकप्रियता बढती ही जा रही है|

इसकी लोकप्रियता अधिक बढ़ने और ज्यादा लोगों के द्वारा इस्तेमाल करने की वजह से ही एंड्राइड की सुरक्षा हमेशा सवालों के घेरे में रहती है| लेकिन हाल ही में गूगल के रिपोर्ट ने इन सभी सवालों के घेरे पर विराम लगा दिया है|

गूगल के मुताबिक एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम भी अब iOS की तरह ही सिक्योर हो गया है| गूगल ने अपने सिक्यूरिटी सिस्टम अपडेट कर एंड्राइड मोबाइल हानि पहुंचाने वाले सभी मैलवेयर को ब्लाक कर दिया है|

बता दें कि गूगल ने कुछ महीने पहले एंड्राइड फ़ोन के लिए ‘प्ले प्रोटेक्ट नाम का फीचर लांच किया था| यह मोबाइल से डाटा चोरी करने वाले एप्लीकेशन को हटाने में काफी मददगार साबित हुआ| गूगल की रिपोर्ट के मुताबिक इस फीचर के जरिये प्ले स्टोर से लगभग 60% ऐसे एप्लीकेशन को हटा दिया गया जो लोगों की मोबाइल उनकी डाटा चोरी करते थे|

क्या आप भी Android सिस्टम यूज करते है तो यह जान कर सच में बहुत दुःख होगा

दोस्तों वैसे तो दुनियाभर में एंड्राइड यूजर्स की संख्यां बहुत ज्यादा है और किसी और ऑपरेटिंग सिस्टम के तुलना में दुनिया की ज्यादातर आबादी एंड्राइड स्मार्ट फोन ही यूज करती है इस कारण कई हज़ार स्मार्ट फोन निर्माता कंपनियां है जिन्हें कोई और ऑपरेटिंग सिस्टम वाला फोन बनाने के तुलना में एंड्राइड स्मार्ट फोन बनाना ज्यादा फायदे मंद लगता है,लेकिन शायद आपको यह पता नहीं होगा की एंड्राइड सिस्टम के मुकाबले IOS ऑपरेटिंग सिस्टम ज्यादा सुरक्षित और सुविधाजनक है.पूरी दुनिया में आई ओ एस ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने वाली सिर्फ एक ही कंपनी है और उसका नाम है एप्पल जी हाँ एप्पल ही वह कम्पनी है जो सबसे सुरक्षित और सिक्योर ऑपरेटिंग सिस्टम बनाती है जिसे पूरी दुनिया में ना तो कोई हैक कर सकता है और ना ही कोई उसका तोड़ निकाल सकता है.

इसके पहले कई इवेंट के दौरान एप्पल ने एंड्राइड फोन के कई कमियों के बारे में बताया था जिसे लोगों ने नज़रअंदाज़ कर दिया,लेकिन यदि आप को भी एंड्राइड फोन ज्यादा अच्छा सुविधाजनक और सुरक्षित लगता है तो आज हम आईओएस और एंड्राइड के बारे में कुछ अहम् बातें बताने जा रहे है जिसके बारे में जान कर आप एंड्राइड फोन के बारे में अपनी सोच बदल जाएगी.

1 ) एंड्राइड फोन के मुकाबले एप्पल का सॉफ्टवेर जल्दी और हर 3 से 4 महीनें में ही अपडेट हो जाता है जिसके कारण कोई भी है कर उसकी जानकारी तथा अहम् डिटेल नहीं चुरा सकता लेकिन एंड्राइड फोन का सिस्टम कॉमन होने के कारण कम सुरक्षित होता है और किसी का भी पर्सनल डाटा कोई भी आसानी चुरा सकता है और स्मार्ट फोन तथा उस से जुडी सभी जानकारी को हैक कर सकता है.

2 ) किसी भी डाटा तथा फाइल को शेयर करने के लिए एंड्राइड सिस्टम में में कई ऐसे थर्ड पार्टी एप है जिनकी मदद से एक दूसरे के साथ अपना डाटा ट्रान्सफर तथा शेयर किया जा सकता है जो की बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है लेकिन वहीँ पर IOS का डाटा ट्रान्सफर के लिए सिर्फ किसी भी थर्ड पार्टी की जरूरत नहीं होती और एयरड्राप एप की मदद से एक से दूसरे डिवाइस में डाटा शेयर किया जा सकता ही जो एंड्राइड के मुकाबले काफी ज्यादा सेफ है.

3 ) IOS ऑपरेटिंग सिस्टम के सभी डिवाइस अपने आप में काफी ज्यादा सिक्योर और यूनिक है इस लिए उनकी कीमत एंड्राइड और बाकी किसी ऑपरेटिंग सिस्टम के डिवाइस के मुकाबले ज्यादा किमती और महगा होता है इस लिए हर कोई उसे नहीं ले सकता सिर्फ यूनिक लोग और उसकी अहमियत को समझने वाले लोग ही लेते है,लेकिन यदि सेफ्टी की बात करें तो एप्पल के सिस्टम को कोई भी टक्कर नहीं दे सकता.

4 ) सबसे अहम् और गौर करने वाली बात यह है की आई फोन की बिल्ड क्वालिटी और उसका यूनिक पैटर्न तथा उसमें मौजूद सभी सॉफ्टवेयर दुनियाभर में एकदम स्पेशल और अपने आप में अनोखा है जिसका कोई कॉपी और डुप्लीकेटर नहीं है लेकिन एंड्राइड सिस्टम के लगभग सभी डिवाइस और स्मार्ट फोन कॉमन है जिसकी IOS से कोई तुलना नहीं.

दोस्तों क्या आप भी एंड्राइड या फिर आई फोन यूज करते है तो बताये की आपके हिसाब से कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम सबसे बेहतर और ज्यादा सुविधाजनक तथा सेफ्टी के मामले में सबसे ज्यादा सुरक्षित है अपना जवाब नीचे कमेंट में जरूर लिखें

ये 10 सीक्रेट कोड एंड्रॉयड स्मार्टफोन वालों को जरूर जानने चाहिए..

अगर आपको ये 10 सीक्रेट कोड पता हैं तो आप फोन की पूरी जानकारी सही-सही जान सकते हैं।

1. *2767*3855# : इस कोड को डायल करने आपका फोन रिसेट हो जाएगा। फोन मेमोरी डिलीट हो जाएगी। इस कोड का इस्तेमाल जरूरत पड़ने पर ही यूज करें। अन्यथा आपके फोन का डाटा खत्म हो सकता है।

2. *#21#: इस कोड से आप जान सकते हैं कि आपके मैसेज, कॉल या कोई और डाटा को कहीं दूसरी जगह डायवर्ट तो नहीं किया जा रहा है।

3. *#*#2664#*#* : इस कोड की मदद से आप अपने फोन की टच स्क्रीन का टेस्ट कर सकते हैं कि वह ठीक से काम कर रहा है या नहीं।

4. *#*#4636#*#* : इस कोड से आप फोन की पूरी जानकारी जान सकते हैं। जैसे- बैटरी, मोबाइल की डिटेल, वाई-फाई दी जानकारी, ऐप यूजेज सहित कई सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

5. *#*#0842#*#* : इस कोड की मदद से फोन का वाइब्रेशन टेस्ट किया जाता है।

6. *#*#34971539#*#*: यह कोड फोन के कैमरे के बारे में पूरी जानकारी देता है।

7. *#62#: कई बार आपका नंबर no-service या no-answer बोलता है। ऐसे में इस कोड को आप अपने फोन में डायल कर सकते हैं। इस कोड की मदद से आप जान सकते हैं कि आपका फोन किसी दूसरे नंबर पर री-डायरेक्ट किया गया है या नहीं।

8. *43#: इस कोड की मदद से आप अपने फोन में कॉल वेटिंग सर्विस चालू कर सकते हैं, वहीं #43# डायल करके उसे बंद भी कर सकते हैं।

9. ##002#: इस कोड की मदद से एंड्रॉयड फोन के सभी फॉरवर्डिंग को डी-एक्टिव कर सकते हैं। अगर आपको लगता है कि आपका कॉल कहीं डायवर्ट हो रहा है तो आप इस कोड को डायल कर सकते हैं।

10. *#06#: इस कोड की मदद से आप IMEI नंबर जान सकते हैं। इस कोड से ही किसी भी फोन की पहचान होती है। सभी फोन के लिए यह कोड अलग-अलग होता है। इस नंबर से पुलिस फोन को ट्रैक कर सकती है।

अंगूठे के बराबर है दुनिया का सबसे छोटा मोबाइल फोन

दुनियाभर में मोबाइल कंपनियों में एक दूसरे से बेहतर स्मार्टफोन बनाने की होड़ लगी हुई है। ऐसे में एक कंपनी ने महज अंगूठे के बराबर का मोबाइल फोन बनाकर सभी को हैरान कर दिया है। ये इतना छोटा है कि आप इसे आसानी से छिपा सकते हैं। लेकिन अगर आपको लगता है कि फोन छोटे होने की वजह से इसके फीचर पर कोई असर पड़ेगा। तो आप बिलकुल गलत हैं। जानिए दुनिया के सबसे छोटे फोन में क्या है खास।

छोटे मोबाइल के बड़े फीचर्स-

1.जेनको (Zanco) नामक कंपनी ने महज 1.82 इंच का छोटा फोन बनाया है। जिसका वजह 13 ग्राम और लंबाई 21 एमएम है। इस फोन को जैनको टिनी टी1 नाम दिया गया है।

2.इस मोबाइल में फुली फंक्सनल कीबोर्ड और स्पीकर दिए गए हैं।

3.हालांकि 4G के जमाने में इस फोन में सिर्फ 2जी नेटवर्क ही चल पाएगा।

4.टॉक एंड टेक्स्ट मोबाइल फोन होने की वजह से इसमें इंटनेट नहीं चलाया जा सकता।

5.इस फोन की बैटरी को जैनको टिनी टी1 नाम दिया गया है। इसकी बैटरी तीन दिन का स्टैंडबाई बैकअप देने के साथ ही 180 मिनट का टॉक टाइम भी देती है।

6. इसका इस्तेमाल करने के लिए इसमें नैनों सिम को लगाना होगा।

7. इस फोन में महज 300 नंबरों को ही सेव किया जा सकता है।

8. जैनको टिनी टी1 में 32जीबी रैम और 32 जीबी रोम दी है।

9.फोन छोटा होने के बावजूद भी इसमें माइक्रो USB चार्जर दिया गया है।

10.इस फोन को आप मई 2018 से 2,280 रुपए में खरीद सकते हैं|

इस वजह से बॉलीवुड फिल्में शुक्रवार को ही होती है रिलीज

Because of this, Bollywood films are released only on Friday

हमारे देश में हर शुक्रवार के दिन ही फिल्म रिलीज होती है। या फिर किसी त्योहार के दिन। आप देखने तो फिल्में जाते है, लेकिन कभी आपके दिमाग में ये बात आई कि आखिर ऐसा क्यों हो शुक्रवार के दिन को ही रिलीज होने के लिए चुना गया है। और किसी दिन को क्यों नहीं। इसके पीछे भी कारण है। हम आपको अपनी खबर में बताते है कि आखिर शुक्रवार के दिन ही क्यों फिल्म रिलीज होती हैं।

अगर आपको याद हो कि भारत में सबसे पहले फिल्म क्लासिकल थी। जिसका नाम मुगले-ए-आजम था। जो कि 5 अगस्त 1960 को रिलीज हुई, लेकिन आप जानते है कि इस दिन भी शुक्रवार था। जिसके कारण हर शुक्रवार को फिल्म रिलीज होने की शुरुआत हुई।

फिल्में शुक्रवार को रिलीज होने के पीछे एक ओर बड़ा कारण था कि ऑफिस शनिवार और रविवार का बंद होना। जिसके कारण शुक्रवार के इसका कारोबार अच्छी तरीके से हो सकता था। जिसके कारण फिल्में रिलीज करने का यही दिन निर्धारित किया गया।

फिल्म शुक्रवार को रिलीज करने का एक कारण था कि उस समय सभी जगह कलर टीवी नहीं थे। जिसके कारण अधिक मात्रा में लोग फिल्में देखने आते थे। जिसके कारण यह ऐसा दिन होता था। जिस दिन मुंबई की कई कंपनिया हाफ डे कर देती थी।

2018 में रिलीज़ होने वाली टॉप 3 इंडियन फ़िल्में हॉलीवुड फिल्मों को देंगी कड़ी टक्कर

Top 3 Indian films to be released in 2018 will give a tough competition to Hollywood movies

आज हम आपको 2018 में रिलीज़ होने वाली 3 ऐसी इंडियन फिल्मों के बारें में बताएँगे जो हॉलीवुड फिल्मों से कड़ी टक्कर ले सकती हैं तो आईये आते हैं।

जीरो

यह फिल्म शाहरुख़ खान के करियर की ऐसी फिल्म हैं जिसमे वे एक बौने की भूमिका निभा रहे हैं इस फिल्म को आनंद एल रॉय डायरेक्ट कर रहे हैं इस फिल्म के मुख्य भूमिका में शाहरुख़ खान,कैटरीना कैफ,अनुष्का शर्मा कोहली और श्रीदेवी हैं आपको बता दें की यह फिल्म श्रीदेवी की आखरी फिल्म हैं जिसमे उन्होंने काम किया है यह फिल्म 21 दिसम्बर 2018 को रिलीज़ होगी।

ठग्स ऑफ हिंदोस्तान

विजय कृष्णा आचर्या के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में पहली बार दो महान अभिनेता एक साथ दिखेंगे इस फिल्म की मुख्य भूमिका में अमिताभ बच्चन,आमिर खान,कैटरीना कैफ और फातिमा सना सेख नजर आएँगी इस फिल्म में जबरदस्त एक्शन और एडवेंचर देखने को मिलेगा यह फिल्म आमिर खान के करियर की सबसे महंगी फिल्म है यह फिल्म 7 नवंबर 2018 को रिलीज़ होगी।

2.0

एस शंकर के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म अप्रैल 2018 में रिलीज़ होगी इस फिल्म की मुख्य भूमिका में रजनीकांत,अक्षय कुमार और एमी जैक्सन नजर आयेंगे आपको बता दें कि इस फिल्म में अक्षय कुमार ने विलन का किरदार निभाया हैं।

एस शंकर के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म अप्रैल 2018 में रिलीज़ होगी इस फिल्म की मुख्य भूमिका में रजनीकांत,अक्षय कुमार और एमी जैक्सन नजर आयेंगे आपको बता दें कि इस फिल्म में अक्षय कुमार ने विलन का किरदार निभाया हैं।

साल 2018 में रिलीज़ होने वाली टॉप 3 हॉलीवुड फ़िल्में जिसका लोग कर रहें है बेसब्री से इंतजार

साल 2018 में रिलीज़ होने वाली टॉप 3 हॉलीवुड फ़िल्में जिसका लोग कर रहें है बेसब्री से इंतजार

आजकल लोग हॉलीवुड की फिल्मों को बहुत पसंद कर रहे है हॉलीवुड हमारे देश हॉलीवुड फिल्मों के फैन की कमी नहीं हैं इसी लिए आज हम हॉलीवुड की 3 फिल्मों के बारे में बताएँगे जिसे लोग बड़े ही बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

अवेंजर्स इंफिनिटी वॉर

अवेंजर्स हॉलीवुड की सबसे ज्यादा पसंद करने वाली फिल्मों में से एक हैं हॉलीवुड फिल्म अवेंजर्स इंफिनिटी वॉर 25 अप्रैल 2018 को रिलीज़ होगी इस फिल्म में आपको सारे अवेंजर्स हीरो देखने को मिलेंगे इस फिल्म को लोग बहुत ही बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं इस फिल्म का हिंदी ट्रेलर यूट्यूब पर रिलीज़ कर दिया गया हैं इस फिल्म में बहुत शानदार एक्शन देखने को मिलेगा।

जुरासिक वर्ल्ड फालेन किंगडम

यह फिल्म 7 जून 2018 को रिलीज़ होगी पिछली फिल्मों की तरह इस फिल्म में भी हमें डायनसोरों का आतंक देखने को मिलेगा इस फिल्म में हमें बहुत ही शानदार वी ऍफ़ एक्स देखने को मिलेगा इस फिल्म को जे ए बायोना ने डायरेक्ट किया है इस फिल्म के मुख्य भूमिका में क्रिस प्रेट,बॉयस डलास हॉवर्ड और टोबी जोंस हैं।

अंट मैन एंड द वास्प

यह फिल्म 6 जुलाई 2018 को रिलीज़ हुई थी इस फिल्म का पहला भाग लोगों को बहुत पसंद आया था इस फिल्म में हमें लेडी अंट मैन देखने को मिलेगी जो अंट मैन से पावरफुल होगी इस फिल्म की कहानी बहुत ही रोमांचक होने वाली है इस फिल्म के मुख्य भूमिका में पॉल रड,माइकल डगलस और एवंजलीन लिल्ली होंगी।

आजकल लोग हॉलीवुड की फिल्मों को बहुत पसंद कर रहे है हॉलीवुड हमारे देश हॉलीवुड फिल्मों के फैन की कमी नहीं हैं इसी लिए आज हम हॉलीवुड की 3 फिल्मों के बारे में बताएँगे जिसे लोग बड़े ही बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

 

प्राइवेट जेट से भी मंहगा है ये मोबाइल, कीमत 300 करोड़ से ज्यादा

अगर आप आईफोनX को सबसे ज्यादा महंगा मोबाइल समझते हैं। तो एक बार फिर सोच लें, क्योंकि दुनिया का सबसे महंगा मोबाइल 1-2 करोड़ का नहीं बल्कि 300 करोड़ से भी ज्यादा है। ये फोन इतना मंहगा है कि फरारी और जेट प्लेन की कीमत भी आपको कम लगने लगेगी। जानिए क्यों इस मोबाइल की कीमत आसमान छू रही है।

अमेरिकी लग्जरी ब्रैंड फैल्कॉन ने साल 2014 में falcon supernova pink diamond iphone 6 को लॉन्च किया गया था। ये वही कंपनी है जो दुनिया भर में प्रीमियम और लग्जरी गैजेट्स बनाने के लिए मशहूर है।

क्यों खास है ये मोबाइल

इस फोन में आईफोन के तमाम फीचर मौजूद हैं। लेकिन इसकी कीमत की असली वजह है फोन के पीछे लगा हुआ पिंक डायमंड। एप्पल लोगो और iPhone एन्ग्रेविंग के बीच में लगे इस महंगे डायमंड की वजह से ही इस फोन की कीमत 4.55 करोड़ डॉलर यानी करीब 327 करोड़ रुपए है।

किसी प्लेन से भी महंगा है ये मोबाइल

बड़े प्लेन की कीमत भी ज्यादा से ज्यादा 200 करोड़ होती है। लेकिन इस फोन में लगा हीरा इसे दुनिया का सबसे महंगा मोबाइल बनाता है। शायद इसीलिए कहते हैं शौक बड़ी चीज़ है।