अभी-अभी : हर नागरिक के आधार कार्ड में हुआ ये बड़ा बदलाव This major change in every citizen’s base card

नमस्कार दोस्तों हाई टेक न्यूज़ की दुनिया में आपका स्वागत है, जी हाँ दोस्तों आपने शीषर्क में सही पढ़ा है। दोस्तों इस क्यूआर कोड में अब आधार धारक की जनसांख्यिकीय जानकारी के साथ फोटो भी होगी। आधार जारी करने वाले इस प्राधिकरण के द्वारा एक बयान में कहा है, कि उसने ई-आधार पर मौजूदा क्यूआर कोड की जगह नया क्यूआर कोड शुरू किया है। इस क्यूआर कोड में अब आधार किसी भी इनडिविजुअल की डेमोग्रॉफिक डिटेल के साथ उसकी फोटो भी होगी। किसी भी इनडिविजुअल का ऑफलाइन वेरिफिकेशन करने के लिए UIDAI ने अब ई आधार में नया अपडेट कर दिया है।

Hello friends Welcome to the world of high tech news, yes yes you read the title right in the title. Friends, this QR code will now also have photos with the base holder’s demographic information. According to a statement issued by the authority, it has said that it has started the new QR code instead of the existing QR code on e-base. In this QR code, now the base will also have a photograph of any indigenous demographic figure. To make offline verification of any indigenous, UIDAI has now made a new update on E basis.

ऐसे नए कोड वेरिफिकेशन होगा आसान : अब तक इस कोड में केवल आधार धारक से जुड़ी जानकारी होती थी। नए कोड में उसकी फोटो भी होगी। आपको बता दें, QR कोड बारकोड लेबल का ही एक रूप है। इसमें छुपी सूचनाओं को मशीन पढ़ सकती हैं। ई-आधार, 12 अंकों की विशेष संख्या का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण है। जिसे यूआईडीएआई की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। UIDAI के सीईओ अजय भूषण पांडेय का कहना है कि यह एक साधारण ऑफलाइन मकैनिज्म है, जो किसी आधार कार्ड की वास्तविकता जल्द वेरिफाई कर लेगा।

Such new code verification would be easy: So far, this code contained only information related to the holder. The new code will also have its photo. Let us know, QR code is a form of barcode label. The machine can read hidden information in it. The e-base is an electronic version of a special number of 12 digits. Which can be downloaded from the UIDAI website. Ajay Bhushan Pandey, CEO of UIDAI, says that this is a simple offline mechanism, which will soon verify the reality of a Aadhar card.

अब बदल जाएगा आपका आधार : प्राधिकरण का कहना है, कि बैंक जैसे संस्थान अब आधार कार्ड का वेरीफिकेशन ऑफलाइन भी कर पाएंगे। यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण ने कहा, ‘यह आधार कार्ड के त्वरित सत्यापन का सरल ऑफलाइन प्रणाली है। उनका कहना है, कि ई-आधार पर फोटो भी होगी। जिससे यह पहचान करना आसान होगा कि पहचान कराने वाले का ही आधार कार्ड है।

Now your base will be changed: Authority says that institutions such as banks can now also get verification of Aadhaar card offline. Ajay Bhushan, CEO of UIDAI said, “This is a simple offline system for quick verification of Aadhar card. They say, there will also be photos on e-base. This will make it easier to identify that the identity card has the base card.

मिलेंगी ये सभी सुविधाएं : ई-आधार QR कोड रीडर सॉफ्टवेयर नोडल बॉडी की वेबसाइट पर 27 मार्च 2018 से ही उपलब्ध है। सूत्रों के अनुसार ऑफलाइन वेरिफिकेशन की इस सुविधा से एक और विकल्प उपलब्ध होगा और यह सुनिश्चित होगा कि आधार कार्ड धारक को आधार से जुड़ी किसी सुविधा से वंचित नहीं किया जाए।

All these facilities will be available: e-base QR code reader software is available on the website of Nodal Body from 27 March 2018. According to sources, this option of offline verification will be available to another option and it will be ensured that the Aadhaar card holder is not denied any facility related to the basis.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *