आखिर क्यों कंप्यूटर में उल्टी पेन ड्राइव इंसर्ट नहीं होती Why the computer does not insert vomiting pen drive

हम लोग एक डिजिटल दुनिया में जी रहे हैं। ऐसी दुनिया जहां चारों तरफ डिजिटल उपकरणों का साया है। ऐसी दुनिया जहां रोजाना एक नया डिजिटल उपकरण का अविष्कार किया जा रहा है।

ऐसी इलेक्ट्रोनिक और डिजिटल दुनिया में जीने के लिए हमें इन उपकरणों में घुलना जरूरी है। इन उपकरणों के बारे में जानना जरूरी है।

We are living in a digital world. A world where there is a set of digital devices around. A world where every day a new digital device is being invented.

To live in such an electronic and digital world, we need to mix them in these devices. It is important to know about these tools.

हम अपने इस आर्टिकल में ऐसे ही एक डिजिटल उपकरण के बारे में बात करेंगे, जिसका उपयोग आजकल हर इंसान लगभग हरेक काम में करता है। कंप्यूटर या विंडो से किसी चीज का आदान-प्रदान करने के लिए (USB) की जरूरत होती है।

यूएसबी/पेन ड्राइव के जरिए हम बहुत सारे मुख्य और महत्वपूर्ण कार्यों को करते हैं। अक्सर यूएसबी को कंप्यूटर में डालते समय हमसे भूल हो जाती है और यूएसबी अंडर नहीं जाता है। हम जब यूएसबी को सीधा करते डालते हैं तभी वो कंप्यूटर के अंदर जाता है।

We will talk about one such digital device in our article, which is used by every person in almost every work nowadays. (USB) is needed to exchange anything or anything from a computer or a window.

Through USB / Pen drive we do a number of major and important tasks. Often, when we put the USB into a computer, we forget it and the USB does not go underground. When we put USB directly, then it goes inside the computer.

क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है? अगर आपने नहीं सोचा तो हम आपको बताते हैं। यूएसबी फ्लैश ड्राइव को हम जितना साधारण समझते हैं या उससे कहीं ज्यादा कारगार होती है। एक यूएसबी फ्लैश ड्राइव के जरिए हम आसानी से किसी भी बड़े-बड़े फाइल्स को एक जगह से दूसरे जगह पर पहुंचा सकते हैं। इसके अलावा हम पोर्टेबल एप को भी चला सकते हैं।

Have you ever wondered why this happens? If you did not think we would tell you. The USB Flash Drive is as easy as we think or is more effective. Through a USB flash drive, we can easily carry any large files from one place to another. Apart from this we can also run portable apps.

साल 2014 में USB 3.1 टाइप-सी कनेक्टर विकसित किया गया था, जिससे यूएसबी पोर्ट प्रतिवर्ती बनी। हालांकि कंप्यूटर में यूएसबी डिवाइस का उपयोग करना काफी मुश्किल हो रहा था। शुरुआत में काफी मेहनत के बाद इसमें सफलता पाई गई थी।

The USB 3.1 Type-C connector was developed in 2014, making USB port reversible. Although it was becoming difficult to use a USB device in the computer. Success was successful in the beginning after a lot of hard work.

शुरुआत में यूएसबी फ्लैस ड्राइव का सफल ना होना इसके एक तरफ से काम करने का मुख्य कारण था। यूएसबी फ्लैस ड्राइव को-फाउंडर अजय भट्ट ने कहा था कि, “जब हमने यूएसबी को बनाना शुरू किया था तब हमने और इंटेल कंपनियों के साथी गणों ने भी नहीं सोचा था कि भविष्य में यूएसबी की इतनी जरूरत लोगों को पड़ेगी”।

Initially the failure of the USB flash drive was the main reason for working on one side. USB Flas Drive co-founder Ajay Bhatt had said, “When we started making USB, then we did not even think that Intel and other companies of Intel companies would have such a need in the future of the USB people.”

अजय भट्ट ने बताया कि “सबसे बड़ी समस्या कीमत को लेकर थी। यूएसबी एक ऐसी चीज है जिसकी सीरीज आप लॉन्च नहीं कर सकते हैं। आपको एक ही उपकरण में सभी सुविधाओं को डालने पड़ेगा और इस यूएसबी को बनाते वक्त हमारे बजट और इसकी कीमत का सही समीकरण बैठ नहीं रहा था। इस वजह से यूएसबी फ्लैस ड्राइव के इंसर्ट पोजिशन में एक ही पिन लगाया गया। जिसके कारण यूएसबी एक तरफ से डालने पर ही कंप्यूटर में इंसर्ट होता है”।

Ajay Bhatt said that “The biggest problem was with the cost. USB is something that you can not launch the series of. You will have to put all the features in one device and when making this USB, our budget and its price The correct equation was not sitting, due to this, the same pin was inserted in the insert position of the USB flash drive, due to which the computer is inserted only on one side.

यूएसबी फ्लैस ड्राइव के निर्माता ने बताया कि, “जिस वक्त उन्होंने इस ड्राइव को बनाया था, उस वक्त लोगों में तकनीकि और डिजिटल उपकरणों में उतनी दिलचस्पी नहीं थी जितनी आजकल है। इसके साथ-साथ हमारे प्रोडक्ट की कीमत से भी हमे नुकसान होने की संभवाना था। इन्हीं कारणों की वजह से उस वक्त इस तकनीक को विकसित करना हमारे लिए एक रिस्क वाला काम था।”

The creator of USB Flas Drive reported that, “At the time when they made this drive, people were not as interested in technical and digital devices as it is nowadays, as well as the loss of our product costs It was possible that due to these reasons, developing this technique at that time was a risky task for us. ”

यूएसबी फ्लैस ड्राइव आजकल के दौर में एक बढ़िया और उपयोगी डिजिटल उपकरण है। इसका उपयोग आयदिन रोजमर्रा की जरूरी कामों में करते हैं। अगर इसे कंप्यूट में दोनों तरफ से इंसर्ट करने की सुविधा होती तो और भी अच्छा होता।

USB flash drive is a great and useful digital device in the nowadays era. Use it everyday in everyday life. If it had the facility to insert on both sides in compute it would have been better.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*